😇मोदी का 'पकौड़ा'🍛बयान बना प्रेरणा!👌

  |   PM Modi News

वाराणसी के अनिल सिंह कंप्यूटर शॉप से बाहर निकलकर अब कड़ाही की मदद से अपने सपनों को पूरा करने में जुटे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के पकौड़ा बेचने वाले बयान से प्रेरणा लेते हुए अनिल ने अब करियर का यह विकल्प चुना है। दशकों पुराने फैमिली बिजनस को अब वह नए सिरे से खड़ा कर रहे हैं।

पीएम मोदी के बयान ने अनिल को अपने दादा का वह दौर याद दिला दिया, जब उनकी अनूठी छोला-कचौड़ी का जायका काशी के लोगों पर सिर चढ़कर बोलता था। अनिल अब कंप्यूटर के क्षेत्र में करियर संवारने के बजाए कड़ाही में कचौड़ी छानकर बेहतर भविष्य के सपने बुन रहे हैं।

अनिल ने एक प्राइवेट फर्म में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी छोड़ दी है। लंबे अरसे से बंद पड़ी अपने दादा की छोला-कचौड़ी की दुकान को उन्होंने नए सिरे से खोला है। अनिल मोबाइल वेंडर के रूप में इसकी बिक्री कर रहे हैं। अनिल का कहना है कि बिना लहसुन और प्याज का इस्तेमाल किए 25 मसालों के साथ उनके दादा भूलन सिंह इस खास व्यंजन को बनाते थे। शुद्ध घी में पकाई जाने वाली स्पेशल डिश को उनके दादा ने ईजाद किया था।

उनका कहना है, 'उस वक्त जब एक दोना (प्लेट) 1-2 आना में मिलता था, मेरे दादा रोजाना 200 आने कमाकर घर लौटते थे।' 70 साल बाद अपने दादा की इस खास डिश को अनिल नए रूप में लेकर आए हैं। अनिल का कहना है, 'हम वैष्णवी डिश के नाम से मशहूर अपने दादा की छोला-कचौड़ी की लोकप्रियता को करीब-करीब भूल चुके थे। लेकिन जब पीएम मोदी ने कहा कि पकौड़ा भी रोजगार का एक साधन हो सकता है, तो अपने पुराने पारिवारिक बिजनस को फिर से खड़ा करने का विचार मेरे मन में आया।'

यहां पढें पूरी खबर—http://v.duta.us/Ns9lgAAA

📲 Get PM Modi News on Whatsapp 💬