[barabanki] - रोक के बावजूद अनुमोदन व वेतन भगतान में बाबू पर गिरी गाज

  |   Barabankinews

रोक के बावजूद वेतन भुगतान

मामले में बाबू को किया सस्पेंड

क्रासर

बाराबंकी। अजीमुद्दीन अशरफ इस्लामियां इंटर कॉलेज में चार शिक्षकों की अनियमित नियुक्तियों के अनुमोदन व भुगतान में भारी खामियां जांच में सामने आने के बाद बुधवार को जेडी ने डीआईओएस कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक को निलंबित कर दिया है। इस मामले में दोषी पाए गए अधिकारियों पर शासन स्तर से जल्द ही कार्रवाई किए जाने की बात भी कही गई है। इससे मामले से जुड़े अधिकारियों में हड़कंप मचा है।

अजीमुद्दीन अशरफ इस्लामियां इंटर कॉलेज में तीन प्रवक्ता व एक सहायक अध्यापक के रिटायरमेंट से पहले विज्ञापन निकालकर फर्जी तरीके से प्रबंध समिति द्वारा की गई नियुक्ति को तत्कालीन दो डीआईओएस ने रद्द कर दी। मगर, उनके तबादले के बाद प्रबंध समिति ने सेटिंग कर तत्कालीन जेडी फैजाबाद से नियुक्तियों पर अनुमोदन करा लिया। मगर, शासन द्वारा अनुमोदन व भुगतान पर रोक के आदेश के बाद मौजूदा डीआईओएस राजकुमार ने दो समकक्ष अधिकारियों के आदेशों को दर किनार कर जून 2018 का वेतन भुगतान कर दिया और एरियर की डिमांड भी कर दी। इस मामले को अमर उजाला ने प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया। इसका संज्ञान लेकर डिप्टी सीएम ने मामले की जांच जेडी फैजाबाद ओम प्रकाश द्विवेदी को दी। जिसके बाद जेडी की जांच में शिक्षको की नियुक्ति को लेकर किया गया अनुमोदन व रोक के बाद बिना शासन की अनुमति के वेतन भुगतान में सरकार के आदेशों और नियमों के विपरीत मिलने की जांच रिपोर्ट शासन को भेजने के बाद बुधवार को डीआईओएस कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक हरीशंकर सैनी को निलम्बित कर दिया है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/o8VftQAA

📲 Get Barabanki News on Whatsapp 💬