[bhopal] - तो खत्म हो जाएंगे शहर के बीच लगे हरे-भरे पेड़

  |   Bhopalnews

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी में शहर के बीचों बीच सड़कों किनारे लगे हरे भरे पेड़ों के अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है। कोई मुरझा गया तो कोई सूखने की कगार पर है। दरअसल इन पेड़ों को विज्ञापन बोर्ड की तरह इस्तेमाल किया जाने लगा है। इसके चलते इनमें लोहे की कई कीले गाड़ दी गई। यहीं इनके लिए घातक साबित हो रही हैं। समय रहते ही सख्त नियम नहीं बने तो जल्द ही शहर के अधिकांश पेड़ सूख जाएंगे।

पेड़ों पर लोहे की कीलों को ठोक कर लगाए जा रहे बोर्ड

प्रचार प्रसार करने के फेर में हरे भरे पेड़ों की बलि चढ़ सकती है। इन्हें विज्ञापन बोर्ड की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। शहर में सड़क किनारे लगे पेड़ों पर लोहे की कीलों को ठोक उन पर बोर्ड लगाए जा रहे हैं। इससे इन पेड़ों के सूखने का खतरा उत्पन्न हो गया है। नियमों के तहत ये गलत होने के बाद भी जिम्मेदार कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। ऐसे में प्रचार के लिए इनका इस्तेमाल बढ़ रहा है। शहर में कुछ स्थानों पर तो सड़क किनारे लगे पेड़ इसी के चलते सूख चुके हैं। इसके बाद भी इस ओर किसी ने अब तक ध्यान नहीं दिया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IHsLqQAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬