[bhopal] - मध्यप्रदेश में स्कूल, कॉलेज से लेकर राशन की दुकानें तक बंद, अलर्ट पर प्रशासन

  |   Bhopalnews

भोपालः एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में सवर्ण समाज के संगठनों के बुलाए गए बंद का व्यापक असर मध्यप्रदेश में सुबह से नजर आ रहा है। स्कूल, कॉलेज से लेकर व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह से बंद हैं। संगठन के लोग रैलियां निकाल रहे हैं और बंद को व्यापक बनाने में जुटे हुए हैं। वहीं दूसरी ओर बंद का असर यह है कि मध्यप्रदेश के कई शहरों में दूध तक नहीं बंटा है, वहीं सब्जी मंडियों में कारोबार पूरी तरह से प्रभावित रहा। इंदौर और ग्वालियर की सब्जी मंडियों में कारोबार नहीं हुआ है। हालांकि प्रशासन अलर्ट मोड पर है और सड़कों पर घूम रहा है। कई जगहों पर आंदोलनकारियों की रैलियों की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। प्रदेश के ज्यादातर जिलों में धारा 144 लागू है। हालांकि सुरक्षा के मद्देनज़र रात तक सभी राज्यों को हाई अलर्ट पर ले लिया गया है। अगर बात करें राजधानी भोपाल की, तो सिर्फ यहीं सुरक्षा के मद्देनज़र पुलिस के 3000 जवानों को हर गली चौराहे पर तैनात किया गया है। साथ ही, एसएएफ की 34 कंपनियां जिनमें 6,000 नव आरक्षक हर गली चौराहे पर तैनात हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Ho_eOAAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬