[bilaspur] - पार्वती के लाल गणपति की मूर्तियों को तैयार करने में जुटे हैं मूर्तिकार

  |   Bilaspur-Chattisgarhnews

13 सितंबर को विराजेंगे गणपति बप्पा

कहीं बाल गणेश तो कहीं राजा के रूप में होंगे भगवान के दर्शन

श्रद्धालु करेंगे भगवान से सुख समृद्धि की कामना

पंडाल होंगे मुख्य आकर्षण के केंद्र

बिलासपुर. शहर में मूर्तिकार भगवान गणेश की प्रतिमा तैयार कर रहे हैं। ऐसी मान्यता है कि भगवान गणपति विघ्नहर्ता हैं, विघ्नों को दूर करते है। ऐसे में सिर्फ पंडालों में ही नहीं, बल्कि घर-घर गणपति की स्थापना की जाती है। भक्त सुख-समृद्धि की कामना करते हैं। गणेश पूजा की तैयारी जोर-शोर से की जा रही है। एक हफ्ते बाद यह पर्व मनाया जाएगा। इसलिए मूर्तिकार भगवान की प्रतिमाओं को अंतिम आकार देने में जुटे हुए हैं। इमलीपारा, कुम्हारपारा, चिंगराजपारा, तिफरा जैसे क्षेत्रों में मूर्तिकारों ने तीन माह पहले से ही मूर्तियां बनाने का काम शुरू कर दिया था। मूर्तिकार अमित सूत्रधर ने बताया कि गणपति की मूर्ति बनाने के लिए तीन से चार माह का समय लगता है। सबसे पहले मूर्ति के लिए पैरा व बांस से ढांचा तैयार करने के बाद उसमें मिट्टी का लेप लगाकर उसे आकार देते हैं। आकार देने के बाद एक माह तक सूखने छोड़ते है। सूखने के बाद मूर्ति में रंग करते है और फिर वस्त्राभूषण पहनाकर अंतिम रूप देते हैं। गणेशोत्सव को कुछ दिन ही बचे हैं, ऐसे में शहर के मूर्तिकार रात दिन मूर्ति को अंतिम रूप देने में जुटे हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ZgEOGAAA

📲 Get Bilaspur-Chattisgarhnews on Whatsapp 💬