[bundi] - शिक्षक दिवस विशेष: जहां से बने, वहीं चल दिए...

  |   Bundinews

बूंदी. जिस स्कूल की पगडंडी नापकर जीवन में शिक्षा की ज्योत जलाई, आज उसी स्कूल के बच्चों को न सिर्फ शिक्षा बल्कि स्काउट-गाइड में नेतृत्व प्रदान करने ओर भारत के भावी निर्माता के रूप में तैयार करने वाले सैकड़ो बच्चे जो अपने अपने क्षेत्र में उच्च पदो पर पदस्थ है उन्हें देखकर सुकून महसूस करते हैं। नाम देवी सिंह सैनानी जो किसी परिचय के मोहताज नही। स्काउट-गाइड संगठन के लिए ही जीना ओर उसी के लिए मरना यह कहना है, सैनानी का।

उनके तरक्की की कहानी इसी स्कूल के गलियारों से शुरू होती है, बात चाहें बच्चों को शिक्षा देने की हो या स्कूल के विकास की। 19 साल तक बूंदी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्काउट-गाइड को मजबूत करने, स्कूल भवन और परिसर में पंचवटी का निमार्ण किया जो जिले मेंं कहीं नही। शिक्षक के पद पर सन् 1976 से शुरूआत हुई। अध्ययन काल से ही राष्ट्रपति अवार्ड प्राप्त कर चुके सैनानी का जीवन स्काउट-गाइड के प्रति समर्पित है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/qdb9JQAA

📲 Get Bundi News on Whatsapp 💬