[chandauli] - लोटा लेकर ब्लाक पर पहुंचे ग्रामीण, पूछे कहां है मेरा शौचालय

  |   Chandaulinews

धानापुर। स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच मुक्त करने के लिए जिले में घर-घर टायलेट बनवाया जा रहा है। दो अक्तूबर तक जिले केे खुले में शौचमुक्त घोषित किया जाना है। इसी क्रम में जिला प्रशासन ने 31 अगस्त को दो ब्लाकों धानापुर और शहाबगंज ब्लाक को ओडीएफ घोषित कर दिया था। सीडीओ की मौजूदगी में केक काटकर खुशियां भी मनाई गई। लेकिन बुधवार को धानापुर ब्लाक के सैकड़ों ग्रामीणों ने प्रशासन की इस रिपोर्ट को आइना दिखाया। नाराज ग्रामीण लोटा लेकर ब्लाक मुख्यालय पहुंच गए और अधिकारियों से पूछा की उनका शौचालय कहां है।

ग्रामीणों के प्रदर्शन को देखकर अधिकारियों के होश उड़ गए। ग्रामीणों का कहना था कि पात्रों को इस योजना में शामिल ही नहीं किया गया और कागज पर शौचालय निर्माण कर ब्लाक को ओडीएफ घोषित कर दिया गया। ग्रामीणों ने शौचालय निर्माण की निष्पक्षता से जांच कराने की मांग की है। बुधवार को दोपहर में समाजसेवी अंजनी सिंह के नेतृत्व में ब्लाक के खड़ान, सिहावल, कांधरपुर, भदाहुं, कवई पहाड़पुर, खरिहानिया सहित एक दर्जन से अधिक गांव के महिला पुरुष लोटा लेकर ब्लाक मुख्यालय पहुंचे और प्रदर्शन किया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि शौचालय निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है। कागज पर पूरे ब्लाक को ओडीएफ घोषित कर दिया गया है जबकि सच्चाई यह है कि अभी भी प्रत्येक गांव में दो से चार गरीबों के घरों में शौचालय नहीं हैं। पात्रों को शौचालय की सुविधा नहीं मिली हैं। इस दौरान ग्रामीणों ने ब्लाक को ओडीएफ निरस्त करों , हमारा शौचालय हमें दो आदि के नारे लगाए। बाद में समाजसेवी अंजनी सिंह ने जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन बीडीओ सुशील मिश्रा को सौंपा। प्रदर्शन करने वालों में नीरज कुमार पांडेय, विनोद पांडेय, चिंटू, शशि कुमार सिंह, विनीत खरवार, गुड्डू सिंह, मीरा देवी, संगीत, उर्मिला, सावित्री, आशा, मीरा रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/huzWWAAA

📲 Get Chandauli News on Whatsapp 💬