[delhi-ncr] - समलैंगिकताः दिल्ली के दो वकील जो बनना चाहते हैं 'ड्रैग क्वीन', जानिए इसके पीछे की वजह

  |   Delhi-Ncrnews

सुप्रीम कोर्ट ने अपने बड़े फैसले में समलैंगिक संबंधों को अपराध की श्रेणी से बाहर करते हुए इसे वैध ठहराया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस फैसले को सुनाते हुए कहा कि समलैंगिकता अपराध नहीं है। ये फैसला सभी जजों ने सहमति से लिया। कोर्ट ने कहा कि अंतरंगता और निजता किसी की निजी पसंद है, इसमें हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद एलजीबीटीक्यू समुदाय में खुशी की लहर दौड़ गई है। इस मौके पर पढ़िए दिल्ली के दो ऐसे वकीलों की कहानी जो ड्रैग क्वीन बनना चाहते हैं। ड्रैग क्वीन क्या है और इसका समलैंगिकता से क्या नाता है ये जानने के लिए पढ़ें हमारी ये खबर।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pAZDfAAA

📲 Get Delhi NCR News on Whatsapp 💬