[himachal-pradesh] - देवता छूने पर अनुसूचित जाति के शख्स की पिटाई, शुद्धीकरण के लिए मांगा बकरा

  |   Himachal-Pradeshnews

जाति के आधार पर छुआछूत का भूत अब भी लोगों के दिमाग से उतरा नहीं है. देवी-देवताओं के नाम पर हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में ये मामले जारी हैं. ताजा मामला मंडी जिला के गोहर उपमंडल में आया है. यहां एक अनुसूचित जाति के शख्स ने देव प्रतिमा को क्या छू लिया, लोगों ने उसकी पिटाई ही कर डाली और देवता की शुद्धीकरण के नाम पर बकरे की मांग कर डाली.

ये है मामला

मंडी के गोहर उपमंडल के दसोट गांव में अनुसूचित जाति के शख्स को स्वर्ण जाति के लोगों ने पीट डाला, क्योंकि उसने देव प्रतिमा को छूकर आशीर्वाद लेना चाहा. घटना बीती 3 सितंबर की है. नांडी गांव का जालपू राम अपनी बेटी के घर से वापिस लौटकर अपनी बहन के घर जा रहा था. रास्ते में दसोट गांव के पास गूगा देवता को स्वर्ण जाति के व्यक्ति के आंगन में रखा हुआ था. जालपू राम ने देवता की प्रतिमा को छूकर आशीर्वाद लेना चाहा. ऐसे में जिस व्यक्ति के घर के आंगन में देव प्रतिमा को रखा था, उसने और अन्य लोगों ने जालपू राम की पिटाई शुरू कर दी....

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/3wbs3AAA

📲 Get himachal-pradeshnews on Whatsapp 💬