[jagdalpur] - गुरिल्ला वॉरफेयर से अंजान आरपीएसएफ के 600 जवान आखिर क्यों छह माह से बैठे हैं खाली

  |   Jagdalpurnews

शेख तैय्यब ताहिर/जगदलपुर. बस्तर में रेल रूट हमेशा से माओवादियों के टारेगेट में रहा है। जब भी एेसा लगा कि पुलिस भारी पड़ रही है तो वे रेलवे टै्रक नुकसान पहुंचा अपनी मौजूदगी और दहशत फैलाने की कोशिश करते रहे हैं। इसके चलते रेलवे को अब तक साढ़े चार हजार करोड़ से अधिक का नुकसान हो चुका है।

2017 में हुए इस योजना के एेलान के बाद

एेसे में अब तक खाकी और डंडे धारण कर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे आरपीएसएफ के जवानों को गोरिल्ला वॉरफेयर की ट्रेनिंग देकर बस्तर और दंतेवाड़ा जिले में 300-300 सशस्त्र जवान तैनात करने पर सहमति बनी। वर्ष 2017 में हुए इस योजना के एेलान के बाद, बाकायदा 600 जवान बस्तर भी पहुंच गए, लेकिन अब रेलवे ने अब तक इन जवानों को ट्रेनिंग देने के लिए बस्तर पुलिस से संपर्क नहीं किया है। यही कारण है कि बस्तर पहुंचे यह 600 जवान खाली बैठे हुए हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/v7Jw6QAA

📲 Get Jagdalpurnews on Whatsapp 💬