[jagdalpur] - पत्नी की याद में बनाया शिक्षागुड़ी, 30 साल में 10 हजार बच्चों का बना चुके है भविष्य

  |   Jagdalpurnews

जगदलपुर. शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में ताजमहल बना दिया था। कुछ इसी तरह कुम्हारपारा में रहने वाले जगदलपुर के संतोष कुमार नाग ने अपनी पत्नी कुंती की याद में 'शिक्षागुड़ीÓ बनाया। इतना ही नहीं युवाओं को शिक्षित करने अधूरा सपने को पूरा करने का भी जिम्मा उठाया। इंजीनियरिंग कॉलेज में बतौर टेक्निशियन के रूप में कार्य कर रहे संतोष आज वे अपने घर में पहली से बारहवीं तक के बच्चों को पिछले 30 साल से नि:शुल्क पढ़ाते हुए अबतक 10 हजार से अधिक लोगों को पढ़ाया चुके है।

शहर के कुम्हारपारा में रहने वाले संतोष कुमार की जिंदगी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है। संतोष बताते हैं कि 80 के दशक में प्रशासन की शिक्षा के प्रचार प्रसार कार्यक्रम साक्षर बस्तर, सुरंद बस्तर के तहत दोनो के बीच प्यार परवान चढ़ा और उसके बाद 1993 में शादी कर ली। शादी के बाद भी दोनो साथ मिलकर इस कार्यक्रम में जुटे हुए थे। लेकिन इसी बीच प्रेगेनेंसी के दौरान पत्नी की मौत हो गई। संतोष को बड़ा झटका लगा, लेकिन शिक्षा के प्रति एेसा जूनून की उन्होंने घर के सामने पत्नी की याद में शिक्षा गुड़ी बना दी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Yj4JQgAA

📲 Get Jagdalpurnews on Whatsapp 💬