[jhabua] - गुरु के चरण छूकर लिया आशीर्वाद, रंगारंग कार्यक्रम

  |   Jhabuanews

झाबुआ. स्थानीय इंदौर पब्लिक स्कूल में टीचर्स डे मनाया गया। आज के दिन विद्यार्थी शिक्षक बने और शिक्षक विद्यार्थी। प्राचार्य दिप्ति सरन ने बच्चों को बताया कि एक विद्यार्थी ही सिर्फ शिक्षक से नहीं सीखता बल्कि शिक्षक भी विद्यार्थी से सीखते हैं। विद्यार्थीयों में अपनी उम्र का एक सहज भोलापन व निश्छलता होती है एवं साथ ही वह हर नई चीज को सीखने का उत्सुक होता है, उसकी जिज्ञासाएं कभी खत्म नहीं होती यह सब एक शिक्षक विद्यार्थी से सीखता है। विद्यार्थियों को बताया गया कि कैसे एक शिक्षक डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्ण देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद राष्ट्रपति तक पहुंचे। राष्ट्रपति बनने के बाद भी उन्होंने सीखना व अध्ययन नहीं छोड़ा। जब उनके विद्यार्थी व अन्य परिचित उन्हें जन्मदिवस की बधाई व उपहार देने पहुंचे तब उन्होंने शालीनतापूर्वक बधाई स्वीकार कर उपहार के स्थान पर अपने जन्म दिवस को अपने शिक्षकों को समर्पित किया एवं उनका सम्मान करने की ईच्छा प्रकट की तब ही से उनके जन्म दिवस को शिक्षक दिवस के रूप मे मनाया जाने लगा । उनका मानना था कि इस देश को अंग्रजी से तो स्वतन्त्रता मिल गई, कितुं अज्ञानता एवं रूढियों से आजादी मिलना अभी बाकी है। इसके लिए अच्छी शिक्षा एवं अच्छे शिक्षक का होना आवश्यक है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/MMkBCwAA

📲 Get Jhabua News on Whatsapp 💬