[jodhpur] - एबीवीपी के पहले प्रत्याशी व छात्रसंघ अध्यक्ष थे राजकुमार ओझा, छात्र राजनीति सहित आंदोलनों में निभाई भूमिका

  |   Jodhpurnews

जोधपुर. जोधपुर संभाग में भी अब छात्र राजनीति को शोर हो रहा है। सूर्यनगरी में विभिन्न संगठनों की ओर से चुनाव प्रचार-प्रसार जोरों पर है। छात्र राजनीति के किस्से हमेशा ही रोचक रहे हैं। इसमें अग्रणी रहे राजकुमार ओझा को आज भी याद किया जाता है। छात्रसंघ चुनावों में बनाए गए रिकॉड्र्स में ओझा एक मिसाल हैं। इसमें सर्वाधिक चुनाव जीतने वाले ओझा एबीवीपी के प्रथम प्रत्याशी व इस बैनर से लडकऱ जीतने वाले प्रथम छात्रसंघ अध्यक्ष रहे हैं। यही नहीं सिंडीकेट सदस्य के तौर पर निर्वाचित होने वाले प्रथम छात्रसंघ अध्यक्ष रहे हैं। जोधपुर विवि से बीएससी व एलएलबी की शिक्षा प्राप्त ओझा स्कूली स्तर से ही छात्र राजनीति में सक्रिय रहे थे। 1972-73 में ओझा तत्कालीन जोधपुर विवि (अब जेएनवीयू) के विज्ञान संकाय के उपाध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुए। 1973-74 में वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर भारी मतों से निर्वाचित हुए। 1973-1975 तक सीनेट सदस्य व अकादमिक परिषद् के सदस्य चुने गए। 1974-75 में छात्रसंघ अध्यक्ष पद पर भारी मतों से निर्वाचित हुए थे। जानकारों के अनुसार विवि में सबसे कम उम्र के छात्रसंघ अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होने का भी रिकॉर्ड इनके ही नाम है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/b9c92wAA

📲 Get Jodhpur News on Whatsapp 💬