[kangra] - फर्जी हस्ताक्षर कर कारोबारी को बनाया गारंटर

  |   Kangranews

फर्जी हस्ताक्षर कर कारोबारी को बनाया गारंटर

लोन लेने के 14 साल बाद कारोबारी को लगा पता, सिविल रिपोर्ट लेते समय डिफाल्टर आने से खुलासा

शाहपुर (कांगड़ा)। पुलिस थाना शाहपुर में धोखाधड़ी का अनोखा मामला सामने आया है। जिसमें एक कारोबारी को लोन लेने के लिए गारंटर बनाया गया है, जबकि कारोबारी को उसके बाद में 14 साल बाद पता चला। फर्जी हस्ताक्षर कर लोन लेने वाले ने दिल्ली के कारोबारी को गारंटर बनाया है। इस बारे में कारोबारी अशोक कुमार ने शाहपुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने शिकायत में कहा कि 31 नवंबर 2004 को मलकीत सिंह पुत्र रुमाल सिंह निवासी दरगेला ने एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड शिमला कार्यालय से तीन लाख 60 हजार रुपये का लोन लिया था। जिसमें अशोक कुमार गारंटर बनाया गया था, वह लोन अब ब्याज सहित पांच लाख रुपये से अधिक बन चुका है। उन्होंने कहा कि जिस समय मलकीत सिंह ने लोन लिया है, उस समय वह शाहपुर में उपस्थित ही नहीं थे। लोन लेने के कागजात में जो हस्ताक्षर किए हैं, वह भी फर्जी है। जिसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि लोन लेने के दस्तावेज में गारंटर की फोटो तक नहीं लगाई गई है। उन्होंने कहा कि एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस के उस समय के प्रबंधक की मिलीभगत के कारण यह लोन लिया गया होगा। जिसमें उन्हें झूठा फंसाने की कोशिश की जा रही है। उधर, एएसपी कांगड़ा बद्री सिंह ने कहा कि पुलिस ने लोन लेने वाले व्यक्ति और एलआईसी के उस समय के प्रबंधक के खिलाफ 420 व 120 के तहत मुकदमा दर्ज कर छानबीन कर दी है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/h2PUlAAA

📲 Get Kangra News on Whatsapp 💬