[madhya-pradesh] - गरीब ग्रामीण को कर्ज लेकर करना पड़ा बेटे का अंतिम संस्‍कार

  |   Madhya-Pradeshnews

एक तरफ मध्‍यप्रदेश सरकार गरीबों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं संचालित कर रही है, वहीं दूसरी तरफ अफसरों की लापरवाही और मनमानी के कारण जरूरतमंदों को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है. ऐसा ही एक मामला डिंडौरी जिले के रानी बुढ़ार गांव का सामने आया है, जहां एक गरीब पिता को अपने बेटे का अंतिम संस्कार करने के लिए लोगों से कर्ज लेना पड़ा.

आपको बता दें कि यह वही मजबूर पिता सखरू सिंह है, जो ग्रामीणों की मदद से बांस और बल्लियों के सहारे शव को कंधे पर रखकर बरसते पानी में करीब 10 किलोमीटर पैदल चलकर किसी तरह गांव पहुंचे और पोस्टमार्टम के 18 घंटे बाद शव का अंतिम संस्कार किया जा सका, क्योंकि गांव तक पहुंचने के लिए सड़क ही नहीं है. ऐसे में दलदल से भरे ऊबड़-खाबड़ जंगली रास्तों को पार करके सिर्फ पैदल ही गांव तक पहुंचा जा सकता है....

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/nAJk_wAA

📲 Get Madhya Pradesh News on Whatsapp 💬