[mandi] - भगवान का घर भी सुरक्षित नहीं

  |   Mandinews

जिले में मंदिरों की सुरक्षा पर सवाल

पुलिस लापरवाह या मंदिर कमेटियां कसूरवार

एक माह में तीन मंदिरों में चोरी, पुलिस खाली

गोहर (मंडी)। जिले के लाखों लोगों की आस्था का गढ़ सराज और नाचन के मंदिर चोरों के निशाने पर हैं। एक के बाद एक चोरी की वारदातों से देव समाज परेशान है। आराध्य देव कमरूनाग के बेटे लटोगली देव के मंदिर में चोरी की वारदात ने फिर मंदिरों की सुरक्षा को लेकर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। एक माह में एक के बाद एक तीन मंदिरों में चोरी से कई सवाल उठ रहे हैं। मंदिरों में चौकसी को लेकर पुलिस का रवैया लापरवाह है या मंदिर कमेटियों के सुरक्षा के इंतजाम ढीले हैं। यह मंथन का विषय बन चुका है। यदि समय रहते पुलिस ने देव समाज के साथ मिलकर मंदिरों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम का खाका नहीं खींचा तो एतिहासिक मंदिरों के लिए खतरा बना रहेगा और लोगों की स्थानीय देवताओं के प्रति गहरी आस्था को भी ठेस पहुंचती रहेगी। वहीं, देव माहूंनाग तरौर और थाची स्थित देव बिट्ठू नारायण मंदिर में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले चोर अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर खुलेआम घूूम रहे हैं। पुलिस शातिरों के गिरेबान तक नहीं पहुंची है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/XEYkqgAA

📲 Get Mandi News on Whatsapp 💬