[moradabad] - दिल्ली फेयर में शामिल नहीं होंगे ईरान और टर्की

  |   Moradabadnews

मुरादाबाद।

ईरान और टर्की के खरीददार 14 अक्तूबर से ग्रेटर नोएडा में होने जा रहे आईएचजीएफ दिल्ली फेयर में नहीं आएंगे। दोनों देशों के खरीददारों के इस फैसले के साथ ही मुरादाबाद के हस्तशिल्प निर्यातकों को 700 करोड़ रुपये का नुकसान तय माना जा रहा है। ईरान अमेरिकी प्रतिबंधों की वजह से मुद्रा अवमूल्यन से जूझ रहा है तो टर्की आर्थिक मंदी का शिकार है। ईरान ने घोषित रूप से हस्तशिल्प उत्पादों के आयात पर रोक लगा दी है।

ईरान और टर्की को मुरादाबाद के हस्तशिल्प उद्योग से सालाना करीब 700 करोड़ रुपये का निर्यात होता है। इन दोनों देशों के खरीददारों के दिल्ली फेयर में नहीं आने से निर्यातक निराश हैं। निर्यातकों का कहना है कि यह 700 करोड़ रुपये का सीधा झटका है। इसके अलावा टर्की और ईरान ने अक्तूबर में हांगकांग में होने जा रहे हांगकांग फेयर में शामिल होने से भी इंकार कर दिया है। फरवरी के फ्रैंकफुर्ट फेयर में भी दोनों देशों के खरीददारों के पहुंचने की उम्मीद नहीं है। निर्यातकों का कहना है कि ईरान और टर्की के खरीददारों ने मेल करके सूचित किया है कि वह दिल्ली और हांगकांग फेयर में नहीं आ रहे हैं। निर्यातक इन दोनों देशों के लिए खास तौर पर अलग से सैंपल बनाते रहे हैं। निर्यातकों का कहना है कि हर देश की अपनी पसंद होती है। इन दो देशों के लिए जो उत्पाद तैयार किए जाते हैं उन्हें किसी दूसरे देश के खरीददार पसंद नहीं करते। फेयर में जब यह दोनों देश आएंगे ही नहीं तो टर्की और ईरान के लिए की गई तैयारियां बेकार हो गई हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FZFTmAAA

📲 Get Moradabad News on Whatsapp 💬