[neemuch] - गणेशजी की मूर्ति बनाकर कहा शासन को दें सद्बुद्धि

  |   Neemuchnews

नीमच. अपनी मांगों के समर्थन में निजी शिक्षण संस्थाओं ने बुधवार को शिक्षक दिवस का बहिष्कार किया। विरोध स्वरूप जिले की सभी अशाकीय शिक्षण संस्थाएं बंद रही। अशासकीय शिक्षकों की एक कार्यशाला में शिक्षिकाओं को इका फ्रेंडली गणेश मूर्ति बनाना भी सिखाया। साथ ही गणेशजी से कामना की कि शासन को सद्बुद्धि दें कि निजी शिक्षण संस्थाओं पर थोपा गया मनमान निर्णय वापस ले।

अब स्कूलों में सिखाएंगे मूर्ति बनाना

कार्यशाला में आईं जिले के करीब 400 शिक्षिकाओं को प्रथम सत्र में रूपांतरण संस्था उज्जैन के राजीव पाहवा ने इको फ्रेंडली गणेश मूर्ति बनाना सिखाया। पाहवा वर्ष 1997 से इस तरह की गणेश प्रतिमाएं बना रहे हैं। जिला अशासकीय शिक्षण संस्था संघ के अध्यक्ष अजय भटनागर ने बताया कि उज्जैन से विशेष रूप से पाहवा यहां केवल गणेश मूर्ति बनाना सिखाने के लिए आए थे। पाहवा ने बताया कि जिस मिट्टी से इको फ्रेंडल गणेश की मूर्तियां बनाई जाती हैं वो काफी महंगी आती है। इस मिट्टी से मूर्ति बनाते समय उसमें बीज डाला जाता है। इसका लाभ यह होता है कि जहां मूर्ति का विर्सजन किया जाता है वहां मूर्ति गलने के बाद बीज अंकुरित हो जाता है। कुछ बाद पौधा उग आता है। इससे पर्यावरण को भी लाभ होता है। कार्यशाला में उपस्थित निजी शिक्षण संस्थाओं के संचालकों ने अपने स्कूलों में बच्चों को इसका प्रशिक्षण देने का निर्णय भी लिया है। जिन शिक्षिकाओं ने मूर्ति बनाना सीखा अब वे स्कूलों में बच्चों को सिखाएंगी। भटनागर ने बताया कि कार्यशाला में मूर्ति बनाकर हमने भगवान गणेश से कामना की कि शासन को सद्बुद्धि दो ताकि इस तरह के मनमाने निर्णयों को वापस लिया जाए।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pRboegAA

📲 Get Neemuch News on Whatsapp 💬