[pali] - 22 साल बाद बर्खास्त आईपीएस की गिरफ्तारी, पाली के एडवोकेट बोले-जंग अभी जारी

  |   Palinews

पाली। पाली के एडवोकेट सुमेर सिंह राजपुरोहित को 22 पहले एनडीपीएस के एक फर्जी मामले में गिरफ्तार करने वाले गुजरात के पूर्व आईपीएस व बनासकांठा के तत्कालीन एसपी संजीव भट्ट को बुधवार को गुजरात सीआईडी पुलिस ने गांधी नगर से गिरफ्तार किया। उनकी गिरफ्तारी के बाद एडवोकेट राजपुरोहित ने पत्रिका से कहा है कि अभी जंग जारी रहेगी, वे भट्ट को सजा दिलाने तक जंग लड़ते रहेंगे।

दुकान खाली करवाने का विवादए फर्जी गिरफ्तारी

प्रकरण के अनुसार वद्र्धमान मार्केट पाली में दुकान नम्बर छह मोहनलाल जैन व पाली के एडवोकेट सुमेरपुर सिंह राजपुरोहित के भाई नृसिंह सिंह की भागीदारी में किराए पर ली हुई थी। यह दुकान तिलक नगर निवासी फुटरमल की थी। फुटरमल की भतीजी अमरी देवी गुजरात के तत्कालीन न्यायाधीश आरआर जैन की बहन थी। आरआर जैन ने गुजरात के बनासकांठा के तत्कालीन एसपी संजीव भट्ट से यह दुकान खाली करवाने के लिए सहायता करने को कहा। इस पर भट्ट ने साजिश रचते हुए एडवोकेट राजपुरोहित के नाम से 29 अप्रेल 1996 को पालनपुर के लाजवंती होटल में फर्जी एन्ट्री कर कमरा बुक किया गया और वहां से एक किलो अफीम बरामद बताई गई। एडवोकेट राजपुरोहित को आरोपी बनाते हुए एनडीपीएस का मामला दर्ज किया गया। 2-3 मई 1996 की रात को पुलिस निरीक्षक आईबी व्यास टीम लेकर सुमेरपुर सिंह पाली स्थित निवास बापू नगर विस्तार से गुजरात ले गई।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/CI0gdQAA

📲 Get Pali News on Whatsapp 💬