[raipur] - चुनावी किस्से : जब भाजपा की जीत के लिए इस नेता ने अपनी मूंछ लगा दी थी दांव पर

  |   Raipurnews

रायपुर. मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के आदिवासियों के लिए घर वापसी अभियान चलाकर मशहूर हुए दिलीप सिंह जूदेव को उनकी खास वेशभूषा और मूंछ के लिए हमेशा याद किया जाएगा। जूदेव जितने सरल थे उतने ही बेबाक भी थे। यहीं कारण है कि एक स्टिंग आपरेशन के दौरान वे बड़ी सहजता से कह गए थे- ‘पैसा खुदा तो नहीं... पर खुदा कसम किसी खुदा से कम भी नहीं...।’

वर्ष 2003 में जब जोगी की सरकार थी और भाजपा यह प्रचारित करने में कामयाब थी कि जोगी एक राजनेता से ज्यादा नौकरशाह है तब दिलीप सिंह जूदेव ने यह कहते हुए अपनी मूंछे दांव पर लगा दी थी कि अगर भाजपा सरकार नहीं बना पाई तो वे अपनी मूंछे उड़वा देंगे। जूदेव के मूंछों को दांव पर लगाने के बाद राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई थी। हर कोई यह जानना चाहता था कि जूदेव ने अपनी प्रिय मूंछों को दांव पर क्यों लगाया है। उन दिनों (अब भी) तात्कालीन मुख्यमंत्री अजीत जोगी मूंछ नहीं रखते थे। राजनीतिक प्रेक्षक मूंछ पर दांव लगाने का यही अर्थ लगाते थे कि जूदेव भी जोगी के समान हो जाएंगे। अर्थात सफाचट रहेंगे।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/CbK32QAA

📲 Get Raipurnews on Whatsapp 💬