[varanasi] - राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में छाएगा लघु फिल्म ‘हलाला’ का ये गीत

  |   Varanasinews

हलाला औरतों पर धर्म के नाम पर थोपी गई वह कुप्रथा है, जिससे औरत मात्र खिलौना बनकर रह जाती है। वह प्रताडि़त होने के साथ अंदर ही अंदर टूट कर बिखर जाती है। असहनीय दर्द से गुजरते हुए बच्चों से मिलने की ललक में ऐसी कुप्रथा का शिकार महिला की पीड़ा को लघु फिल्म ‘हलाला’ को दर्शाया गया है और इस फिल्म के गीत ‘नहीं औरतों की यहां कोई कीमत, सरेआम होती है नीलाम इज्जत ’ का चयन राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए हुआ है।

आकाशगंगा म्यूजिक एंड फिल्म हाउस के बैनर तले बनी लघु फिल्म ‘हलाला’ के गीत का चयन जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल और न्यू दिल्ली फिल्म फेस्टिवल के लिए हुआ है। यह 22 सितंबर को होगा। नारेंद्र निर्मल के संगीत को काफी सराहा गया है। 30 मिनट की ये लघु फिल्म यू-ट्यूब पर देखी जा सकती है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/kSFZiQAA

📲 Get Varanasi News on Whatsapp 💬