[champawat] - छतकोट ग्राम पंचायत में मिले ‘बिरखम’

  |   Champawatnews

जिले की अमोड़ी न्याय पंचायत के छतकोट ग्राम पंचायत के चांदपुर तोक में ऐतिहासिक बिरखम (सात-आठ फुट की लंबाई और एक फुट चौड़ाई के स्तंभ, स्थानीय भाषा में बारहखाम अथवा बिरखम) मिले हैं। माना जा रहा है कि इनका निर्माण चंद राजवंश के शासकों ने करवाया है।

ग्रामीणों को यह बिरखम झाड़ी कटान के दौरान मिले हैं। आसपास के ग्रामीणों को इन बिरखम के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है। पर्वतीय क्षेत्रों में विभिन्न स्थानों में सात-आठ फुट की लंबाई और एक फुट चौड़ाई के स्तंभ पाए जाते रहे हैं।

ग्रामीण दीपक बोहरा ने बताया कि चांदपुर निवासी ग्रामीण लीलाधर भट्ट को सड़क के किनारे झाड़ी काटने के दौरान जमीन में दबे चार बिरखम दिखाई दिए। उनका कहना है कि पूर्व में इस स्थान से पैदल रास्ता गुजरता था। इतिहासकार डॉ. प्रशांत जोशी के अनुसार बिरखमों के निर्माण और इनको स्थापित करने का उद्देश्य क्या रहा होगा, कुछ कहा नहीं जा सकता है।...

फोटो - http://v.duta.us/_h9JKQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/V8w2CAAA

📲 Get Champawat News on Whatsapp 💬