[dehradun] - डाकपत्थर के 120 छात्रों का भविष्य दांव पर

  |   Dehradunnews

ब्यूरो/अमर उजाला, विकासनगर

उच्च शिक्षा विभाग की ओर से स्नातकोत्तर महाविद्यालय डाकपत्थर में बगैर शिक्षकों के पद सृजित किए स्नातकोत्तर कक्षाओं में वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान एवं अर्थशास्त्र विषय को स्वीकृति दी गई है। इससे इन विषयों में शिक्षकों की तैनाती नहीं होने से 120 छात्रों का भविष्य दांव पर हैं। शिक्षक नहीं होने से कॉलेज में विषय होने के बावजूद नए शिक्षा सत्र से इन विषयों के छात्रों को दूसरे महाविद्यालयों की ओर रुख करना पड़ सकता है।

नियमानुसार बगैर शिक्षकों के पद सृजित किए किसी विषय को स्वीकृति नहीं दी जाती। लेकिन, यहां पीजी में एक-दो नहीं बल्कि तीन विषय बगैर टीचरों के पद सृजित किए स्वीकृत कर दिए गए हैं। कॉलेज में न तो इन विषयों के शिक्षकों की तबादलों से तैनाती हुई है और न ही प्रमोशन से तैनाती हो पा रही है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लगभग एक साल पहले कॉलेज में स्नातक स्तर पर भूगोल व समाजशास्त्र विषय को स्वीकृति दिए जाने की घोषणा की थी। लेकिन, इस पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। न ही शिक्षकों के पद सृजित किए गए हैं और न ही विषयों को स्वीकृति दी गई है। ऐसे में पछवादून क्षेत्र के छात्रों को अन्य कॉलेजों का रुख करना पड़ रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/r4pO_AAA

📲 Get Dehradun News on Whatsapp 💬