[etah] - चीनी मिल की खराबी से किसानों की बढ़ी परेशानी

  |   Etahnews

कासगंज। चीनी मिल के बाहर गन्ना लदे वाहनों की लंबी कतारें और किसान परेशान। कासगंज के न्यौली मिल के बाहर पिछले कुछ दिनों से ऐसी ही हालत है। मिल में तकनीकी खराबी दूर न होने के कारण कई दिनों से गन्ना खरीद नहीं हो पा रही है। परेशान किसानों ने मिल के बाहर प्रदर्शन कर आक्रोश जाहिर किया है। इधर मिल के बॉयलर की खामी दूर हुई तो टरबाइन खराब हो गई है। इंजीनियर दिन रात खामी दूर करने में जुटे हुए हैं।

चीनी मिल की खराबी से किसानों पर दोहरी मार है। पहले तो उनका गन्ना सूख जाने से वजन कम हो रहा है। इसके अलावा तमाम किसान किराए के वाहनों से गन्ना लेकर मिल पर पहुंचे हैं। इन किसानों पर किराए का बोझ बढ़ रहा है। 500 रुपये प्रतिदिन ट्रैक्टर ट्रॉली का किराया जा रहा है। जो किसान 8-10 दिनों से मिल के बाहर परेशान खड़े हैं उनके गन्ने से मिलने वाला भुगतान तो किराए में ही चला जाएगा। परेशान किसानों में मिल के खिलाफ आक्रोश पनप रहा है। गुरुवार को तमाम किसानों ने न्यौली चीनी मिल के बाहर प्रदर्शन कर अपना आक्रोश जाहिर किया। इधर प्रतिदिन गन्ना पहुंचने से वाहनों की कतारें भी बढ़ रहीं हैं। मिल में वाहन खड़े करने का मैदान पूरी तरह भर गया है। उसके बाद कासगंज-बरेली मुख्य मार्ग पर गन्ना वाहनों की लंबी लंबी कतारें लगीं हैं। रात्रि के समय मुख्य मार्ग पर दुर्घटनाओं का खतरा भी बढ़ रहा है। इधर मिल ने दावा किया है कि जल्द ही संचालन शुरू कर दिया जाएगा। खराब टरबाइन को गाजियाबाद से बदलवा लिया गया है। गुरुवार शाम तक मिल का संचालन नहीं हो सका था।...

फोटो - http://v.duta.us/amVOFgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/fUOJ8gAA

📲 Get Etah News on Whatsapp 💬