[farrukhabad] - महिला अस्पताल पर दोगुने से ज्यादा लोड

  |   Farrukhabadnews

राम मनोहर लोहिया महिला अस्पताल पर दोगुने से ज्यादा लोड है। यहां पर 30 बेड के कर्मचारियों व डाक्टरों के पद मंजूर हैं। जबकि लोड 100 से ज्यादा बेड का है। यह बात एनक्यूएएससी (नेशनल क्वालिटी एस्यूरेंस स्टैंडर्ड सर्टिफिकेशन) के लिए आई राज्य स्तरीय टीम के निरीक्षण में सामने आई है। इसके अलावा टीम को अन्य छोटी मोटी खामियां भी मिलीं।

लोहिया महिला अस्पताल को एनक्यूएएससी मिलना है। इसमें चयन होने पर अस्पताल को दस हजार रुपये प्रति बेड के हिसाब से प्रतिवर्ष गुणवत्ता बनाए रखने के लिए धन मिलेगा। इसी केे निरीक्षण के लिए गुरुवार को महिला अस्पताल में लखनऊ से डा. प्रीति मदान व डा. भारतेंदु की टीम आई है। गुरुवार को पहले दिन टीम ने इमरजेंसी, ओटी और वार्डों का निरीक्षण किया। इस दौरान एक वार्ड में उन्हें एक महिला साफ-सफाई के लिए घर से लाई चादर फाड़ती हुई मिली। इस पर प्रीति मदान ने नाराजगी जाहिर की। साथ ही स्टाफ को भी इसका ध्यान रखने को कहा। उन्होंने कहा कि इससे नवजात को इंफेक्शन हो गया तो इसका कौन जिम्मेदार होगा। मरीजों से चादर आदि बदले जाने की जानकारी भी ली। इसके बाद वह लोग एसएनसीयू वार्ड में गए। इसके बाद डा.भारतेंदु लेबर रूम में चले गए। उन्होंने वहां पर एक-एक चीज की गहनता से जांच की। जबकि डा. प्रीति मदान ने एसएनसीयू में ही पूरा दिन गुजारा। जांच के बाद उन्होंने बताया कि अस्पताल को 30 बेड का ही मानव संसाधन मंजूर हैं। लेकिन यहां पर लोड 100 बेड का है। इसके अलावा उन्होंने लोहिया अस्पताल का एसएनसीयू वार्ड बहुत अच्छा है। कर्मचारी भी प्रशिक्षित हैं। कुछ चीजों में मॉनीटरिंग की आवश्यकता है।...

फोटो - http://v.duta.us/krjoKgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/SFJSwQAA

📲 Get Farrukhabad News on Whatsapp 💬