[saharanpur] - विद्युत निगम में 72 लाख रुपये का घोटाला, दो कर्मचारी निलंबित

  |   Saharanpurnews

सहारनपुर। विद्युत निगम में बड़ा गोलमाल सामने आया है। विद्युत वितरण खंड बेहट के मुजफ्फराबाद उपखंड से जुड़े दो टीजीटू कर्मियों पर आरोप है कि उपभोक्ताओं को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से रसीदों से छेड़छाड़ कर करीब 72 लाख रुपये का गबन कर लिया। दोनों कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है और जांच बिठा दी गई है। अन्य उपभोक्ताओं के खातों की भी जांच शुरू करा दी गई है।

विद्युत निगम के आला अधिकारियों को पूर्व में इसकी शिकायतें मिलीं कि मुजफ्फराबाद उपखंड के टीजीटू ने मिलीभगत करके उपभोक्ताओं के बिल जमा कराने में गड़बड़ी की। रसीदों में हेराफेरी करके उपभोक्ताओं के खाते में गलत धनराशि का समायोजन कर दिया। ऐसे करीब 235 खातों की जांच की गई, तो गोलमाल का खुलासा हुआ। अधीक्षण अभियंता (प्रथम) वीके शर्मा ने बताया कि विद्युत वितरण खंड बेहट के मुजफ्फराबाद उपखंड के टीजीटू नीरज कुमार और सुशील कुमार को विद्युत निगम को भारी राजस्व हानि पहुंचाने और गबन करने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। नीरज को निलंबन के बाद परीक्षण खंड प्रथम सहारनपुर से संबद्ध कर दिया गया। जबकि सुशील कुमार को विद्युत वितरण खंड देवबंद से संबद्ध किया गया है। अधीक्षण अभियंता का कहना है कि उपभोक्ताओं पर जितना बिल बकाया था, उसके नाम पर ली गई पूरी धनराशि खाते में जमा नहीं दर्शाई, जबकि ज्यादा धनराशि जमा अंकित करा दी गई। अभी तक 235 खातों की जांच में 72 लाख रुपये का गबन सामने आ चुका है। गबन के आरोप में नीरज कुमार एवं सुशील कुमार को निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/XN0GXAAA

📲 Get Saharanpur News on Whatsapp 💬