[shamli] - एक बिल्डिंग मे पांच स्कूल 775 बच्चो पर चार अध्यापक कैसे को बच्चो का भविष्य उज्ज्वल

  |   Shamlinews

हकीकत में प्राथमिक स्कूलों की व्यवस्था नहीं सुधरी

शामली। प्रदेश सरकार के परिषदीय स्कूलों की दशा सुधारने के तमाम दावे केवल कागजों के पेट भरने तक ही सीमित है। धरातल पर परिषदीय स्कूलों की स्थिति काफी दयनीय है। अमर उजाला टीम ने पूरे जिले के कई परिषदीय स्कूलों का भ्रमण कर हकीकत जानने की कोशिश की तो चौंकाने वाले हालात नजर आए। कई स्कूलों की बिल्डिंग काफी जर्जर थी। एक-एक बिल्डिंग में पांच स्कूल चलते मिले। गंदगी के ढेर के पास ही बैठकर बच्चे मिड-डे-मील खा रहे थे। कमरों की कमी से बरामदे में ही क्लास चलती है और बच्चे कड़ाके की सर्दी में ठिठुरते हुए मिले। प्रस्तुत है प्राथमिक स्कूलों के हालात पर एक रिपोर्ट।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/r3SDggAA

📲 Get Shamli News on Whatsapp 💬