🤷‍♂️रेप का आरोप लगने पर रुक जाएगी पेंशन🙅‍♂️जब्‍त होगा ड्राइविंग लाइसेंस🛵

  |   समाचार

राज्‍य में महिलाओं की सुरक्षा और बलात्‍कार के मामले में पीड़िता को जल्‍द से जल्‍द इंसाफ दिलाए जाने को लेकर हरियाणा सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं. खट्टर सरकार बलात्‍कार के मामलों में पीड़िता को वकील की नियुक्ति के लिए 22,000 रुपये की वित्तीय सहायता देगी. महिलाओं से होने वाली छेड़छाड़ की घटनाओं पर भी सख्‍ती से कदम उठाने का निर्देश दिया गया है.

सरकार ने फैसला किया है कि जो भी व्‍यक्‍ति छेड़छाड़ और बलात्‍कार जैसे मामलों में आरोपी होगा, उसका तत्‍काल प्रभाव से पेंशन, ड्राइविंग लाइसेंस और हथियार का लाइसेंस वापस ले लिया जाएगा. इसी के साथ अगर दोष साबित हो जाता है तो ये सभी सुविधाएं स्‍थायी रूप से छीन ली जाएंगी.

इसी तरह छेड़छाड़ के मामलों में जांच अधिकारी को अपनी रिपोर्ट 15 दिनों के भीतर जमा करनी होगी. अगर 15 दिनों के अंदर जांच अधिकारी मामले में रिपोर्ट नहीं सौंपता तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. बलात्कार के मामलों को तेजी से ट्रैक किया जाएगा और जांच पूरी होने के 30 दिनों के भीतर कार्रवाई शुरू की जानी चाहिए.

यहां पढें पूरी खबर—http://v.duta.us/cm7a1QAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬