[dehradun] - जनाक्रोश भाजपा सरकार के खिलाफ था, लेकिन रैली में दिखी कांग्रेस की गुटबाजी

  |   Dehradunnews

भले ही जनाक्रोश भाजपा सरकार के खिलाफ था, लेकिन कांग्रेस की गुटबाजी फलक पर छा गई।

रैली शुरू होते वक्त पूर्व सीएम हरीश रावत के कहने पर भी पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को बोलने के लिए माइक नहीं दिया गया। इस पर कांग्रेसी आपस में भिड़ गए और धक्कामुक्की शुरू हो गई। किसी तरह बीच बचाव हुआ, इसके बाद अलग-अलग गुटों में बंटकर नगर निगम से तहसील पहुंचे बड़े नेताओं ने तल्खी को सरेआम कर दिया। इतना ही नहीं, पूर्व सीएम और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बीच में ही रैली को छोड़कर दिल्ली चले गए।

जनाक्रोश रैली के दौरान सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे नगर निगम में एकत्र कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार जिन वादों के साथ सत्ता में आई थी, आज वह पूरी तरह गायब है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य ने कहा कि उत्तरा प्रकरण से साबित हो रहा है कि प्रदेश सरकार महिलाओं के सम्मान को लेकर कितनी गंभीर है। भगवानपुर विधायक ममता राकेश ने कहा कि भाजपा सरकार भष्ट्राचार में संलिप्त है। विकास का मुद्दा कहीं से कहीं तक भी धरातल पर नजर नहीं आ रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/7tFMqwAA

📲 Get Dehradun News on Whatsapp 💬