[mp] - वाट्सएप ने मां को बेटी से मिलाया; आरक्षक को लावारिस मिली थी ढाई साल की मासूम, सिर्फ मम्मी और पापा बोली

  |   Madhya-Pradeshnews

भोपाल.नेहरू नगर इलाके में खेलते-खेलते ढाई साल की मासूम घर से दूर निकल गई। एक बुजुर्ग महिला ने बच्ची को लावारिस देख उसे थाने पहुंचा दिया। पूछने पर बच्ची अपना नाम काव्या और मम्मी-पापा ही बोल पा रही थी।

बच्ची से माता-पिता और पते की कोई जानकारी नहीं मिलने पर आरक्षक कपिल कौशिक ने उसका एक मैसेज फोटो के साथ वाट्सएप पर वायरल कर दिया। करीब चार घंटे के इंतजार के बाद बच्ची के माता-पिता बेटी की तलाश करते हुए थाने पहुंच गए। उन्हें एक किराना व्यापारी ने वाट्सएप मैसेज देखने के बाद थाने जाने की सलाह दी थी।

बेटी को एक मिनट के लिए भी होने दूंगी आंखों से ओझल :विदिशा निवासी 28 वर्षीय पिंकी शर्मा के पति मोनू शर्मा की जनरेटर बनाने की फैक्टरी है। पिंकी दो दिन से अपनी बड़ी बहन के घर आई हुई हैं। जैसा पिंकी ने बताया- दोपहर के समय काव्या बड़ी बेटी और अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी, लेकिन एक बजे के बाद वह नजर नहीं आई। हमें इसका ध्यान नहीं रहा। करीब चार घंटे तक लगातार नहीं दिखने पर बच्चों से पूछने पर उन्होंने बताया कि काव्या तो उनके साथ नहीं है। इसके बाद हमने आसपास उसकी तलाश शुरू कर दी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/e66yxgAA

📲 Get Madhya Pradesh News on Whatsapp 💬