[ratlam] - लावारिस मूक-बधिर दिव्यांग की आंखों ने बताया घर का पता

  |   Ratlamnews

रतलाम। रेलवे स्टेशन परिसर से करीब एक माह पहले मिले किशोर की आंखों से उसके घर का पता बाल गृह ने मालूम कर लिया है। अब वहां की टीम बच्चे की आंखों से मिले पते पर ही उसके माता-पिता रहते है या नहीं, वह पता लगाने का प्रयास कर रही है। टीम से जुड़े लोगों की माने तो संभवत: गुरुवार सुबह तक वह बच्चे के घर तक पहुंच कर उसकी जानकारी एकत्र कर लेंगे।

बालगृह में पहुंचा यह किशोर करीब १५ वर्ष का है, जिसके नाम को उसकी उम्र कम होने से जिम्मेदार उजागर नहीं कर रहे है। यह किशोर १७ मई को रेलवे स्टेशन परिसर के प्लेटफार्म नंबर दो पर घूमते रेलवे की चाइल्ड लाइन टीम को मिला था, जिसने बच्चे के बारे जानकारी निकालने का प्रयास किया, लेकिन बच्चे के बोल व सुन नहीं पाने के कारण कोई ठोस जानकारी हासिल नहीं कर सकी। बाद में टीम ने किशोर को बाल कल्याण समिति को सौंप दिया था। वहां पर समिति के आदेश से किशोर को मिशन कंपाउंड स्थित बाल गृह में भेज दिया गया था। जहां पर बीते कुछ दिनों से वह बेहतर ढ़ंग से जिंदगी बीता रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/RpIhMgAA

📲 Get Ratlam News on Whatsapp 💬