[rewa] - विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल में तीन महीने लेबर रूम में भर्ती की रहेगी मारामारी, ये है वजह

  |   Rewanews

रीवा। विंध्य के सबसे बड़े गांधी स्मारक चिकित्सालय के लेबर रूम में भर्ती होने के लिए अगले तीन महीने बेड की मारामारी रहेगी। बेड के लिए गर्भवती को संघर्ष करना पड़ेगा। वर्तमान हालात यही बयां कर रहे हैं।

बरसात के सीजन में अन्य सीजनों की तुलना में डेढ़ गुना प्रसव के केस बढ़ जाते हैं। गांधी स्मारक चिकित्सालय विंध्य क्षेत्र का टर्सरी सेंटर हैं। यहां रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, पन्ना सहित शहडोल संभाग के जिला अस्पतालों से प्रसव के गंभीर केस रेफर किए जाते हैं। गायनी विभाग के पास कुल 90 बेड हैं। जिसमें गायनी आइसीयू और लेबर रूम में कुल 30 बेड हैं। जो हमेशा फुल रहते हैं। जुलाई, अगस्त और सितंबर महीने में प्रति माह 800 से अधिक प्रसव लेबर रूम में होने का पिछला रिकार्ड रहा है। बीते वर्ष इन महीनों में लेबर रूम में भर्ती के लिए वेटिंग चल रही थी, बेड की कमी के कारण गर्भवती को लेबर रूम के बाहर घंटों इंतजार करना पड़ता था। अस्पताल प्रबंधन ने बीते वर्ष की परेशानियों से कोई सबक नहीं लिया है। गर्भवती को समय पर बेड मुहैया कराने की कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई है। ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/m2vnIwAA

📲 Get Rewa News on Whatsapp 💬