👉 ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद 👳 सिखों के प्रदर्शन को ब्रिटेन में भी दबाया गया🇬🇧

  |   Hindiworldnews

तत्कालीन प्रधानमंत्री मारग्रेट थैचर के नेतृत्व वाली ब्रिटेन की सरकार ने 1984 में भारत में ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद सिखों के प्रदर्शन को दबाने के कई प्रयास किए थे। हाल में जारी दस्तावेजों से यह पता चला है। ब्रिटेन के एक न्यायाधीश ने पिछले महीने फैसला दिया था कि डाउनिंग स्ट्रीट के दस्तावेज को सार्वजनिक करने से भारत के साथ कूटनीतिक संबंध खराब नहीं होंगे जिसके बाद दस्तावेज सार्वजनिक किए गए।

दस्तावेज से अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में सेना के अभियान में ब्रिटेन की संलिप्तता के कोई सबूत नहीं मिले लेकिन उनसे पता चलता है कि तत्कालीन राजीव गांधी की सरकार के साथ आकर्षक व्यापारिक समझौते करने के लिए भारत सरकार के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध की आकांक्षा थी।

थैचर के विदेश मंत्री ज्योफ्री होवे चाहते थे कि तथाकथित खालिस्तान गणतंत्र सहित ब्रिटिश सिख समूहों के प्रदर्शन की योजना को स्कॉटलैंड यार्ड प्रतिबंधित करे क्योंकि वर्तमान परिस्थितियों में सिखों के मार्च से काफी गंभीर खतरा होता। यह खतरा भारत - ब्रिटेन संबंधों और देश में कानून - व्यवस्था को लेकर था।

खबर के लिए देखें- http://v.duta.us/duycpQAA

📲 Get विश्व समाचार on Whatsapp 💬