[baran] - यह कैसा कॉलेज, पढ़ाने वाले ही नहीं ,तीसरे साल भी यही हालात

  |   Barannews

मांगरोल. सरकार को यहां राजकीय महाविद्यालय खोले तीन साल हो गए लेकिन अब भी कॉलेज खुला जैसे ही हालातों से यहां दाखिला लेने वाले छात्र-छात्राओं को रू-ब-रू होना पड़ रहा है। यहां महाविद्यालय में व्याख्याताओं की नियुक्ति तो की ही नहीं गई। छात्र संगठनों की आवाज भी नक्कारखाने में तूती की तरह ही साबित हो रही है। महाविद्यालय में व्याख्याताओं की नियुक्ति आज तक नहीं की गई है। ऐसे में यहां न विद्यार्थी पढऩे आ रहे हैं और ना ही किसी प्रकार की गतिविधि हो पा रही है। एक अकेले प्रिंसीपल के भरोसे महाविद्यालय संचालित हो रहा है। एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है, जो महाविद्यालय का ताला खोल देता है और एक लिपिक कागजी कार्यवाही करता रहता हैं इसके अलावा यहां कोई कामकाज नहीं हो रहा है। ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/j_c8pQAA

📲 Get Baran News on Whatsapp 💬