[chhatisgarh] - अच्छे सत्संग से जीवन में आता है बदलाव: शास्त्री

  |   Chhattisgarhnews

सेल| ग्राम के करंजपारा में श्रीमद भागवत कथा के पहले दिन 11 जुलाई को कथा वाचक चित्रकूट आश्रम वाले पं. शिवभान शास्त्री ने सत्संग का महत्व बताया। उन्होंने कहा कि सत्संग पाकर मनुष्य का जीवन बदल जाता है। जब हमारे कई जन्मों के पुण्य उदय होते हैं, तब हमारी श्रीमद भागवत कथा सुनने में रूचि हा़े पाती है। ऐसी सुंदर भक्ति पूर्ण अनुष्ठान गोविंद की कृपा से ही हाेती है। हिंदु वैदिक वांग्मय का सर्वोत्तम ग्रंथ श्रीमद भागवत है।

श्रीमद भागवत कथा की पद्धति क्या है, उस कथा के सुनने का नियम क्या है, क्यों सुनी जाती है? भागवत कथा की बातों का विशुद्ध विवेचन किया जाए, उसे हम महात्म्य कहते हैं। जीवन की तीन बातें हैं, जो समझने की हैं। ये तीन बातें सत, चित और आनंद हैं। भगवान के तीन स्वरूप हैं और भगवान तीन ही कार्य करते हैं उत्पत्ति, पालन और संहार और तीन प्रकार के पापों को नष्ट करते हैं। ऐसे भगवान श्रीकृष्ण को हम सब मिलकर के प्रणाम करते हैं। ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/WKpSNAAA

📲 Get Chhattisgarh News on Whatsapp 💬