[dhar] - पत्र लिखने की कला को जिंदा रखने दिए जाएंगे 5० हजार

  |   Dharnews

पत्र लिखने की कला को जिंदा रखने दिए जाएंगे 5० हजार

  • इंटरनेट और मोबाइल के चलते विलुप्त हो गया पत्र लिखने का हुनर

पत्रिका सरोकार

धार.

आधुनिकता की दौड़ में इंटरनेट और सोशल मीडिया के बढ़ते उपयोग के कारण पत्र लिखने की कला विलुप्त सी होती जा रही है। लेकिन पत्र व्यवहार आज के समय में काफी कम हो गया है। इस कारण पत्र लेखन विद्या के प्रति आकर्षित करने के उद्देश्य से भारतीय डाक विभाग द्वारा एक प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है, ताकि पत्र लेखन की कला हमेशा जिंदा रहे। भारतीय डाक विभाग द्वारा अखिल भारतीय पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। ढाई आखर पत्र लेखन अभियान के तहत मेरे देश के नाम खत विषय पर पत्र लिखा जाएगा। इस पत्र को मुख्य पोस्टमास्टर जनरल परिमंडल कार्यालय भोपाल ४६२०१२ पर साधारण डाक के माध्यम से भेजा जा सकेगा। प्रतियोगिता सभी उम्र वर्ग के लिए रखी गई है। इसमें १८ वर्ष तथा इससे अधिक की दो श्रेणियां रखी गई है। पत्र में प्रतिभाती को उम्र के संबंध स्वहस्ताक्षरित प्रमाण-पत्र देना होगा। ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/DbIbygAA

📲 Get Dhar News on Whatsapp 💬