[dhar] - साधरण अपराध समझकर थाने से रिहा करने का विरोध किया

  |   Dharnews

साधरण अपराध समझकर थाने से रिहा करने का विरोध किया

  • एसपी को सौंपा आवेदन

धार.

गंभीर आगजनी के अपराधी को साधरण अपराध समझकर थाने से रिहा करने का विरोध करते हुए गुरुवार को मेवातीपुरा के रहवासियों ने पीडि़त अयुब खान के साथ मिलकर एसपी बीरेंद्रसिंह को एक आवेदन सौंपा। आवेदन में बताया कि 10 जुलाई को रात्रि में वाहन घर के बाहर था, जिसे मोहल्लेे के राजु उर्फ राजेंद्र पिता नंदराम राठौर निवासी मेवातीपुरा द्वारा आग लगाकर जला दिया गया। मोहल्ले के लोग जब एकत्रित हुए तब देखा तो घासलेट की बदबू आ रही थी तथा घासलेट के छिटे व बदबू राजु के घर के अंदर तक थे। पुलिस को सूचना देकर आरोपी के घर से एक घासलेट की बोतल, कुछ कागज व कपड़ा जब्त किया गया। आरोपी के मानसिक रूप से बीमार होने के समाचार प्राप्त हुए, ऐसे में इस प्रकार के व्यक्ति का बगैर कोई मेडिकल करवाए व मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर को दिखाया जाना था। इस प्रकार से मानसिक रोगी आरोपी को वापस मोहल्ले में ही छोड़ देने से पुन: घटना होने की संभावना है। पूर्व में भी क्षेत्र में 5 से 6 बाइक जलने की घटनाएं हो चुकी है, इन घटनाओं को लेकर भी राजु के विरूद्व कार्रवाई की जाने की मांग रखी गई।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/qU8qRwAA

📲 Get Dhar News on Whatsapp 💬