[haryana] - दो वक्त की रोटी का नहीं हो पा रहा था जुगाड़, महिला ने थाम ली किराये पर ई-रिक्शा

  |   Haryananews

हरियाणा के अंबाला में मांहिलायें हर कदम पर पुरुषों का मुकाबला करती दिखाई दे रही हैं. अपने तीन छोटे-छोटे बच्चों की दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करने के लिए अंबाला छावनी की रहने वाली रेनू राय ने भी नारी शक्ति का परिचय देते हुए किराए पर ई रिक्शा लिया और बन गई अंबाला की पहली ई रिक्शा चालक. कड़कड़ाती धूप में सवारियां ढोती ये महिला ई रिक्शा चालक निसंदेह औरों के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं.

इसलिए लिया ई रिक्शा चलाने का निर्णय

अंबाला छावनी के देवी लाल नगर की रहने वाली रेनू ने अपना परिवार चलाने के लिए ई रिक्शा चलाने का निर्णय लिया और फिर जैसे तैसे किराए पर ई रिक्शा ले कर, कड़कती धूप में अंबाला छावनी की सड़कों पर अपने ई रिक्शा में सवारियों को बिठा उनके गंतव्य तक पहुंचाना शुरू कर दिया. कुल मिला कर रेनू राय का ये जज्बा भी नारी सशक्तिकरण की मिसाल है. ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/q3_AiQAA

📲 Get haryananews on Whatsapp 💬