[jabalpur] - जब मंच पर जीवंत हो उठा सम्राट अशोक का गौरव, देखते रह गए लोग

  |   Jabalpurnews

जबलपुर। एमपीईबी के तरंग ऑडिटोरियम में शुक्रवार शाम 'सम्राट अशोकÓ के मंचन में रंगकर्मियों ने अपने अभिनय से दर्शकों का दिल छू लिया। बिना संवाद के ही दृश्यों ने कहानी का जो भाव प्रकट किया, उससे दर्शक भाव विभोर हो गए। मंच पर सम्राट अशोक के युद्ध कौशल, रक्तपात के साथ उनके स्त्री प्रेम, गौरव और धर्म पथ का जीवंत मंचन किया गया। दर्शक अंत तक इसके आकर्षण में बंधे रहे।

लाइट और साउंड का कमाल

मप्र नाट्य विद्यालय भोपाल की प्रस्तुति में पार्थो बंदोपाध्याय के निर्देशन में 25 युवा रंग कर्मियों ने नाटक का मंचन किया। आंगिक अभिव्यक्ति शैली के नाटक में लाइट और साउंड ने दृश्यों को जीवंत कर दिया। राधाकृष्ण नंद ब्रह्मा ने सम्राट अशोक, अदिति लाहोटी ने तिष्यरक्षिता और सौरभ सिंह परिहार ने राधा गुप्त करा अभिनय किया। सैनिक और बौद्ध भिक्षु के रोल में राजसी परम्परा और धार्मिक भाव दिखा।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IxeiwAAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬