[jammu] - जम्मू-कश्मीर: कश्मीरी पंडितों ने काले दिवस पर मांगा होमलैंड का अधिकार

  |   Jammunews

कश्मीरी पंडितों को होमलैंड का अधिकार मिलना चाहिए। केंद्र सरकार इस पर जल्द से जल्द कार्रवाई करे। यह बात काले दिवस पर आयोजित जेनोसाइड(नरसंहार) एंड होलकास्ट प्रदर्शनी में पनुन कश्मीर के अध्यक्ष अश्वनी चारुंगू ने कही। उन्होंने कहा कि 13 जुलाई 1931 कश्मीर से हिंदु समुदाय को खदड़ने का काम शुरू हो गया था।

अंग्रेजों ने हिंदुओं को कश्मीर से भागने को रणनीति बनाई। इस दौरान समुदाय को तोड़ने पर काम हुआ। विचरनाग, महाराज गंज, हरि सिंह हाई स्ट्रीट, बोहरी, कदल और कनीकोट में लूटपाट हुई और हिंदुओं को प्रताड़ित किया गया। इस दौरान कई हिंदुओं की जानें भी गईं।

इस काले दिवस को शहीद दिवस के रूप में भी बनाया जाता है। इस दिन हिंदुओं को मारा गया था। उन्होंने जेएंडके कोर्ट बार एसोसिएशन जम्मू के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि काले दिवस को वोर्किंग डे के रूप में मनाया गया है। 1931 से लेकर अभी तक हिंदुओं को खदड़ने का काम चल रहा है। 1990 में कश्मीरी पंडितों पर हमला किया गया। इसमें हजारों लोगों को मौत के घाट उतारा गया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/g162swAA

📲 Get Jammu News on Whatsapp 💬