[meerut] - सर्किल रेट बढ़ाने की कवायद के बीच भी नहीं बढ़ा रजिस्ट्री का ग्राफ

  |   Meerutnews

मेरठ। प्रशासन इस बार संपत्तियों के सर्किल रेट बढ़ाने की कवायद कर रहा है। हर बार जब भी प्रॉपर्टी के सर्किल रेट बढ़ाने की तैयारी होती थी तो रजिस्ट्री का ग्राफ बढ़ जाता था, लेकिन इस बार ऐसा नजर नहीं आ रहा। प्रॉपर्टी के गिरते ग्राफ से रजिस्ट्री विभाग को भी घाटा उठाना पड़ रहा है। विभागीय आंकड़े साफ गवाही देते हैं कि 2013 के बाद मेरठ में प्रॉपर्टी खरीद से लोगों ने मुंह मोड़ना शुरू कर दिया है।

शासन के निर्देश पर जिलाधिकारी द्वारा हर साल जनपद में सर्किल रेट निर्धारित किए जाते हैं। इस सर्किल रेट निर्धारण में ऐसा कभी नहीं हुआ कि रेट घटाए गए हैं, हमेशा रेट या तो पिछले साल के रहे हैं, या फिर 5 से 40 प्रतिशत तक बढ़ाए गए। इसलिए जब भी सर्किल रेट बढ़ने की कवायद होती है, तो जो लोग अपनी खरीदी संपत्तियों की रजिस्ट्री नहीं कराते हैं, वो सर्किल बढ़ने के डर से रजिस्ट्री करा लेेते हैं। क्योंकि सर्किल रेट बढ़ने के बाद स्टांप शुल्क बढ़ जाता है और रजिस्ट्री कराना महंगा हो जाता है। पिछले साल प्रशासन द्वारा सर्किल रेट नहीं बढ़ाए गए थे। बावजूद इसके सर्किल रेट बढ़ने के भय से लोगों ने कुछ रजिस्ट्री कराई थी। लेकिन इस बार रजिस्ट्री का ग्राफ जून में नहीं बढ़ सका।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/LQHYxAAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬