[moradabad] - तनाव में घिरे होने का मुख्य कारण यज्ञ संस्कृति से दूर होना- दण्डी स्वामी

  |   Moradabadnews

बिलारी। नगर के मोहल्ला शांतिपुरम में बृहस्पतिवार की देर शाम शुरू हुए एक धार्मिक कार्यक्रम में भूमानिकेतन हरिद्यद्वार से आए दण्डी स्वामी लवकुश आश्रम ने कहा कि मानव का तनाव में घिरे होने का मुख्य कारण यज्ञ संस्कृति से दूर होना है। आषाढ़ मास की चतुर्दशी को प्रवचन करते हुए दण्डी स्वामी ने आगे कहा कि हमारी सनातन संस्कृति यज्ञ प्रधान है। पहले अकाल में वर्षा कराने, पुत्र की प्राप्ति और महामारी से रक्षा आदि में ऋषि मुनियों द्वारा यज्ञ किए जाते थे परन्तु हम आज इसे भूलते जा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि यज्ञ में समर्पित की जाने वाली एक आहूति से 50 जीवाणु संतृप्त होते हैं। खासकर आसुरी प्रवृत्ति वाले जीवाणु इससे संतुष्ट होकर अहित नहीं करते थे। परन्तु आज उन्हें भी खुराक मिलनी बंद हो गई तब वह विनाशकारी कार्य कर रहे हैं। स्वामी जी ने आगे कहा कि घर में प्रथम भगवान हमारे माता पिता हैं, फिर गुरू का वंदन करना चाहिए। बड़ों का सम्मान और उनकी आज्ञा का पालन करने से हमें सदमार्ग मिलता है और कोई व्याधा नहीं सताती है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/RiPqoQAA

📲 Get Moradabad News on Whatsapp 💬