[pratapgarh-rajasthan] - बेसहारा बालकों को मिले दादा-दादी के रूप में नए पालनहार

  |   Pratapgarh-Rajasthannews

प्रतापगढ़. मुख्यमंत्री की पालनहार योजना दो नन्ही बच्चियों के लिए सहारा बनी और दादा-दादी के रूप में उन्हें नये पालनहाल मिल गए। मां के दो बच्चियों को दादा-दादी के सहारे छोडकऱ चले जाने के बाद अब योजना के तहत आर्थिक सहायता मिलेगी और वे अब पढ़ लिख सकेंगी। राज्य सरकार के निर्देशानुसार जन समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिये माह के प्रत्येक गुरूवार को मिनी सचिवालय में आयोजित जिला स्तरीय जनसुनवाई का आयोजन होता है। जिला कलक्टर भंवरलाल मेहरा की अध्यक्षता में आईटी केन्द्र में आयोजित जनसुनवाई में जिला स्तरीय अधिकारी एवं वीसी के माध्यम से ब्लॉक स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे। जनसुनवाई में जब 55 वर्षीय दादा रमेशचन्द्र एवं दादी पार्वती बाई ने दो छोटी बच्चियों को गोद में उठाकर जिला कलक्टर के समक्ष अपना प्रार्थना पत्र रखा और निवेदन किया कि इन बालिकाओ की विधवा मां इन्हें हमारे पास छोडकऱ चली गई है। इस पर जिला कलक्टर ने आवेदन पत्र को पढकऱ तत्काल उपस्थित अधिकारी को दोनो बच्चियों का दादा-दादी के रूप में नये पालनहार आवेदन पत्र तैयार करने एवं अन्य योजना के तहत मिलने वाले लाभ देने के निर्देश दिए। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक जेपी चांवरिया ने बताया कि मुख्यमंत्री पालनहार योजना में अनाथ-बच्चों के पालन पोषण, शिक्षा आदि की व्यवस्था संस्थागत नहीं की जाकर समाज के भीतर ही बच्चे के निकटतम रिश्तेदार एवं परिचित व्यक्ति के परिवार में करने के इच्छुक व्यक्ति को पालनहार बनाकर आर्थिक सहायता भी उपलब्ध भी कराई जाती है। योजना में पांच वर्ष तक के बालको को 500 रूपये एवं इससे अधिक उम्र के बालकों को प्रतिमाह 1 हजार रूपये की आर्थिक सहायता दी जाती है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/b40EdgAA

📲 Get Pratapgarh Rajasthan News on Whatsapp 💬