[rampur] - शौचालयों की सूचना देने में लापरवाही पर डीएम सख्त, आज तलब की रिपोर्ट

  |   Rampurnews

रामपुर। जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित किए गए शौचालयों की सूचनाएं देने में ग्राम पंचायत सचिव आनाकानी कर रहे हैं। डीएम के आदेशों के बाद भी 53 ग्राम पंचायत सचिवों ने करीब ढाई सौ गांवों के शौचालयों की प्रगति रिपोर्ट व अन्य बिन्दुओं पर मांगी गई सूचना उपलब्ध नहीं कराई है। जिस पर डीएम ने शुक्रवार को इन सभी ग्राम पंचायत सचिवों को बैठक में बुलाया है। बैठक से पूर्व रिपोर्ट न मिलने या अनिमियतता पाए जाने पर निलंबन की चेतावनी दी गई है। जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने मई माह में शौचालयों के संबंध में प्रगति रिपोर्ट मांगी थी। इसके बाद जून माह में इसको लेकर एक पत्र जारी किया गया। जिसमें साल 2014 के बाद स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले में हुए शौचालय निर्माण की प्रत्येक वर्ष वार चयनित लाभार्थियों की संख्या, उनके नाम, धनराशि प्राप्त होने के बाद भी शौचालय का निर्माण न करवाने वाले लाभार्थियों की सूची मांगी गई थी। साथ ही धनराशि निर्गत किए जाने के बाद भी शौचालय निर्माण होना नहीं पाए जाने पर तब से वर्तमान तक कार्यरत ग्राम पंचायत सचिवों विरुद्ध सहायक विकास अधिकारी पंचायत द्वारा शासकीय धनराशि के सदुपयोग न करने, शासकीय कार्यों में लापरवाही बतरने के दृष्टिगत नियमानुसार दंडात्मक/वैैधानिक कार्रवाई अमल में लाए जाने को कहा गया। साथ ही उक्त कार्यों में ग्राम प्रधान, सहायक विकास अधिकारी पंचायत व खंड विकास स्तर पर भी यदि लापरवाही बरती गई तो उसका संज्ञान लेकर जिला पंचायत राज अधिकरी द्वारा कार्रवाई कर अवगत कराने को कहा गया। लेकिन इसके बावजूद 53 ग्राम पंचायत सचिवों ने 235 गांवों की सूची उपलब्ध नहीं कराई। जिस पर डीएम ने नाराजगी जताते हुए सूची के साथ इन 53 ग्राम पंचायत सचिवों के साथ विकास भवन में शुक्रवार को बैठक कर समीक्षा किए जाने का निर्णय लिया है। साथ ही बैठक से पूर्व सूची न मिलने पर संबंधित सचिव को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की चेतावनी दी है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QGIBsgAA

📲 Get Rampur News on Whatsapp 💬