[tonk] - प्रदेश की कई मंडियों में पहचान बना रही है टोंक बनास की मिर्च, रोजाना 20 टन मिर्च का होता है कारोबार

  |   Tonknews

बनवारी लाल वर्मा

राजमहल. बनास नदी इन दिनों मिर्च की पैदावार में मशहूर होने लगी है। बनास में बोई गई मिर्च लम्बी होने के साथ ही अलग हरेपन व तिखेपन के कारण इस वर्ष टोंक सहित जयपुर, अजमेर, कोटा, भीलवाड़ा सहित राज्य के कई जिलों की मण्डियों में पहचान बनाने लगी है।

बीसलपुर बांध से नयागांव तक चार किलोमीटर क्षेत्र में पडऩे वाली बनास के लगभग पांच सौ बीघा भूमि व बांध के जलभराव के करीब नेगडिय़ा, नापा का खेड़ा, डाबर, रघुनाथपुरा, छात्तड़ी आदि गांवों की सैकड़ों बीघा तटीय भूमि पर इन दिनों मिर्च की फसल लहलहा रही है।

जहां से रोजाना 20 टन से अधिक हरी मिर्च राज्य की बडी बडी मण्डियों में बैची जा रही है। किसानों ने बताया कि खेतों की अपेक्षा बनास नदी में किसानों के पास काफी कम मात्रा में भूमि होती है। जहां अधिक मुनाफे को लेकर एक साथ उसी भूमि में मिर्च, करेला,खीरा ककड़ी, लोकी आदि की फसलें बोई जाती है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QTETmQAA

📲 Get Tonk News on Whatsapp 💬