[ujjain] - भगवान जगन्नाथ की दो रथ यात्राएं, 125 स्थानों पर होगा स्वागत

  |   Ujjainnews

उज्जैन. मंदिरों की नगरी में शनिवार को भगवान जगन्नाथ की दो रथ यात्राओं का उल्लास बिखरेगा। एक यात्रा खाती समाज निकालेगा तो दूसरी इस्कॉन मंदिर की ओर से निकाली जाएगी। भगवान के रथ को श्रद्धालु अपने हाथों से खींचेंगे। इस्कॉन की यात्रा में भगवान जगन्नाथ के लिए स्वर्ण झाडू से मार्ग को बुहारा जाएगा।

अनुष्ठान के बाद होगी पूजा

इस्कॉन मंदिर की ओर से 12वीं जगन्नाथ रथयात्रा का आयोजन किया जा रहा है। शनिवार को दोपहर दो बजे में धार्मिक अनुष्ठान के बाद रथ की पूजा की होगी। स्वर्ण की झाड़ू से रथ के मार्ग बुहारा किया जाएगा। रस्सियों से रथ को खींचकर यात्रा शुरू की जाएगी। इस्कॉन की रथयात्रा कंठाल, नईसड़क, फव्वारा चौक, दौलत गंज, मालीपुरा, देवास गेट, चामुंडा माता मंदिर से ओवर ब्रिज होते हुए टावर, तीन बत्ती चौराहा, देवास रोड होते हुए इस्कॉन मंदिर के पीछे बनाए जा रहे गुंडिचा पहुंचेगी। रथयात्रा में हाथी, तुरही वादन, बैलगाडिय़ों में भगवान की झांकी, कीर्तन मंडली शामिल रहेगी। इस्कॉन के पीआरओ पंडित राघवदास ने बताया कि मार्ग में 125 स्थानों पर संगठनों द्वारा रथयात्रा का स्वागत किया जाएगा। इस्कॉन मंदिर के पीछे गोशाला में गुंडिचा का निर्माण किया है। रथयात्रा के बाद यहां भगवान सात दिन रुकेंगे। यहां प्रतिदिन रमाकांत प्रभु की कथा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xWR_BQAA

📲 Get Ujjain News on Whatsapp 💬