[chhindwara] - नदी में बाढ़ आने से डूब सकते हैं कई खेत

  |   Chhindwaranews

परासिया. नगर पालिका परासिया द्वारा पेंच नदी न्यूटन में बनाए जा रहे बांध की वाल का पुर्ननिर्माण नहीं होने से दर्जनों किसानों की चिंता बढ़ गई है। पेंच नदी में बाढ़ आने की स्थिति में एक बार फिर उनकी फसलों के बह जाने का खतर मंडरा रहा है। तत्कालीन शहरी विकास मंत्री कमलनाथ ने परासिया नगर की जलआर्वधन योजना के लिए लगभग 32 करोड़ रुपए उपलब्ध कराए थे जिसके अंर्तगत न्यूटन में बांध बनाने का काम किया जा रहा था लेकिन बांध की गलत डिजायनिंग के कारण दो वर्ष पूर्व नदी में बाढ़ आने से की वाल धराशायी हो गई जिसके कारण दर्जनों किसानों के सैकड़ों एकड़ खेत में पानी भर गया जिससे खेत में लगी फसल पूरी तरह नष्ट हो गई वहीं खेत में रेत पत्थर की भरमार होने से उपजाऊ जमीन बेकार हो गई। पिछले वर्ष किसानों ने मेहनत और पैसे खर्च कर किसी तरह जमीन का कुछ भाग खेती किसानी के लिए तैयार किया लेकिन बांध के दोनो तरफ की वॉल नहीं बनने के कारण उनकी चिंताए बढ़ गई है। गिरधारी यदुवंशी ने बताया कि वर्ष 2016 में अतिवृष्टि के कारण नदी में बाढ़ आने से निर्माणाधीन डैम के दोनों तरफ की वाल दिवार ढह गई जिससे नदी के पानी के कटाव में खेत का बडा भाग नदी का हिस्सा बन गया और बाकी खेत रेत पत्थर से पट गया। दर्जनों किसानों के खेत इसकी चपेट मे आए मुआवजा के लिए कई बार गुहार लगाई गई लेकिन आश्वासन के अलावा कु छ नहीं मिला। इस बार भी नदी का पानी खेतों में घुसने से फसल के तबाह होने और बचेखुचे खेतों के कटाव का अंदेशा बना हुआ है। शासन की लापरवाही के कारण बांध तय समय मेें पूरा नहीं हो पाया। नदी के कटाव से किसानों को भारी नुकसान हुआ है। हो सकता है स बार नदी में अधिक पानी आए और फिर कटाव होने से लागत और बढ़ जाएगी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FzZATAAA

📲 Get Chhindwara News on Whatsapp 💬