[damoh] - हाइवे, ग्रामीण सड़क मार्ग दे रहे बेताहाश तकलीफें, इस तरह हुआ विकास में भ्रष्टाचार

  |   Damohnews

दमोह/ बनवार. मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम, लोक निर्माण विभाग के अलावा अन्य मदों से बनाए गईं सड़कों के निर्माण में गारंटी पीरियड की शर्त हो, लेकिन जिले में चाहे 212 करोड़ की लागत से हाइवे निर्माण हो, या 50 लाख से 5 करोड़ तक ग्रामीण सड़कें बारिश के दिनों में सभी खस्ताहाल नजर आ रही हैं।

वर्तमान में जहां जबलपुर- सागर हाइवे 37 जगह-जगह खस्ताहाल है, वहीं जबेरा के बाहर से भारी यातायात का दबाव करने बनाया गया बायपास मार्ग में खस्ताहाल हो गया है। यह सड़क पहले से खस्ता थी, सड़क निर्माण कंपनी में इसमें मरम्मत का लेप चढ़ाया था, जो भी पिछले दिनों की बारिश में बह गया है। जिससे यह सड़क गड्ढों में तब्दील हो गई है। दमोह-जबलपुर पर जबेरा कस्बे के अंदर से सरपट भागते वाहनों को बाहर से निकलाने बायपास का निर्माण कराया गया था। यह बायपास अपने निर्माण के दौरान ही विवादों में घिरा रहा। बायपास खत्म होने पर भदर नाले के पास स्पीड कंट्रोल करने की व्यवस्था न होने के कारण कई गंभीर हादसे सामने आए थे। इस दौरान जबेरा के लोगों ने विरोध प्रदर्शन व ज्ञापन दिए, जिसके बाद भी समस्या जस की तस बनी हुई है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Q2m-dAAA

📲 Get Damoh News on Whatsapp 💬