[hoshangabad] - indian railway नेपाली यात्री को चलती ट्रेन से फेंका, यह है कारण

  |   Hoshangabadnews

इटारसी। ट्रेनों में सुरक्षित सफर करना अब पुरानी बात हो रही है। आए दिन वारदातें हो रही हैं। ताजा मामला एक नेपाली यात्री को चलती ट्रेन से फेंकने का सामने आया है। घटना हनुमानधाम मंदिर रेलवे आउटर पर 12590 सिकंदराबाद-गोरखपुर एक्सप्रेस की हुई। जिसमें यात्रा कर रहे एक नेपाली यात्री का मोबाइल लूटने का प्रयास कर रहे बदमाशों ने उसे चलती ट्रेन से फेंक दिया।

मोबाइल लूटने की कोशिश में यात्री को बदमाशों ने चलती ट्रेन से धक्का देकर नीचे फेंक दिया। पुलिस और लोगों की सतर्कता के कारण बदमाश पकड़े गए। यात्री सिकंदराबाद की होटल में काम करता है।

सिकंदराबाद की पैराडाइज होटल में काम करने वाला 23 वर्षीय रोहित पुत्र नरबहादुर नेपाली सिकंदराबाद-गोरखपुर एक्सप्रेस में लखनऊ जा रहा था। उसने टीसी से स्लीपर कोच में बर्थ ली थी। दोपहर 12.30 बजे ट्रेन इटारसी से निकली थी। हनुमानधाम मंदिर आउटर पर जब रोहित कोच के गेट पर मोबाइल चला रहा था, तभी अचानक तीन बदमाश आए और उसका मोबाइल झपटने लगे। झूमाझटकी के दौरान बदमाशों ने रोहित को धीमी गति से चल रही ट्रेन से गिरा दिया। हादसे में रोहित बुरी तरह जख्मी हो गया। बदमाश भी ट्रेन से उतरकर उसका मोबाइल झपट रहे थे लेकिन पास खड़ी पुलिस टीम एवं हनुमान मंदिर के पास जमा लोगों को देख बदमाश रोहित को छोड़ भागने लगे। इन्हें पुलिस टीम ने आगे जाकर दबोच लिया। जीआरपी ने तीनों आरोपी शुभम् पुत्र विनोद पारोचे १९ वर्ष, बाबू उर्फ आसिफ पुत्र अशोक कुचबंदिया १८ वर्ष एवं चंदन पुत्र हरदयाल कौरव तीनों निवासी गरीबी लाइन के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया है। जीआरपी ने बताया कि तीसरा बदमाश 22 वर्षीय चंदन पुत्र हरदयाल कौरव निवासी गरीबी लाइन तीन दिन पहले ही जेल से छूटा है, उसे जीआरपी ने डकैती में जेल भेजा था, जिसे जमानत मिल गई, जेल से आते ही चंदन ने फिर ट्रेन में लूट की प्लानिंग की और इसमें दो साथियों को शामिल किया। जीआरपी थाना प्रभारी बीएस चौहान ने बताया कि आरोपियों ने यात्री से मोबाइल लूटने की कोशिश की थी। उनको मौके से ही पकड़ लिया गया। सभी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1lGJ0gAA

📲 Get Hoshangabad News on Whatsapp 💬