[kaushambi] - पट्टे की भूमि पर निर्माण को लेकर हंगामा

  |   Kaushambinews

पश्चिम शरीरा। स्थानीय उपकेंद्र के समीप स्थित भूमि पर कराए जा रहे निर्माण को लेकर रविवार की शाम ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। ग्रामीणों का कहना था कि जमीन सरकारी अस्पताल के लिए काफी पहले सुरक्षित की गई है। विरोध को देखते हुए पुलिस ने निर्माण बंद कराने के साथ ही राजस्व अफसरों को खबर दी। राजस्व अफसर मामले का हल निकालेंगे।

पूरब शरीरा गांव में सड़क किनारे करीब नौ बीघे जमीन है। इस जमीन के साढ़े चार बीघा क्षेत्रफल में पावर हाउस बना है। वर्ष 2012 में करीब चार बीघे जमीन सरकारी अस्पताल के लिए ग्राम समाज से प्रस्ताव किया गया। यहां पर सीएचसी प्रस्तावित थी। जो बाद में सरसवां में बना दी गई। तब से यह जमीन खाली पड़ी है। उसी जमीन पर पंचायत भवन भी बना है। वर्ष 2016 में तत्कालीन एसडीएम मंझनपुर ने पूरबशरीरा के महेंद्र पुत्र सुरेमन को सो मोटो (बिना ग्राम सभा से प्रस्ताव कराए अपने विवेक पर ) आवासीय पट्टा दे दिया। अब यह जमीन काफी कीमती है। रविवार को महेंद्र सड़क किनारे की तरफ से निर्माण करा रहा था। इसका विरोध गांव के लोगों ने किया। उनका कहना है कि अगर महेंद्र को आवासीय पट्टा मिला है तो वह आबादी की जमीन में निर्माण कराए। सड़क किनारे कीमती जमीन पर कब्जे के लिए यह खेल किया जा रहा है। ग्रामीणों के भारी विरोध के चलते पुलिस ने फिलहाल काम बंद करवा दिया है। मामले की जानकारी राजस्व कर्मियों को दी गई है। राजस्व के अफसर ही पूरे मामले का हल निकालेगें।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/jZp8pAAA

📲 Get Kaushambi News on Whatsapp 💬